Blog
सिमेज कॉलेज ने चलाया स्वच्छता अभियान | छात्रों ने कॉलेज कैम्पस के आस-पास के मुहल्लों में की साफ़-सफाई

सिमेज कॉलेज ने चलाया स्वच्छता अभियान | छात्रों ने कॉलेज कैम्पस के आस-पास के मुहल्लों में की साफ़-सफाई

निगम कर्मियों की हड़ताल के कारण गंदगी और बदबू से बजबजाता शहर के कई इलाके त्रस्त है | ऐसे में सरस्वती पूजा के पहले सिमेज कॉलेज के छात्रों ने अपने हाथों में खुद ही कमान ले ली और ठान लिया – पुरे इलाके को साफ सुथरा करने का | कॉलेज में कॉपी, किताब और कलम पकड़ने वाले छात्रों के हाथ में आज थी झाड़ू, फावड़े, और कुदाल | और मिशन था – कॉलेज के आस-पास के इलाके में व्याप्त कूड़े के ढेर को हटाने का और पुरे इलाके से गन्दगी मुक्ति दिलाने का | छात्रों ने सिमेज कॉलेज शाखाओं यथा अशोक राजपथ (कुल्हडिया कॉम्प्लेक्स), राजापुर पुल, बोरिंग रोड तथा विवेकानंद पथ के आस-पास के इलाके में साफ़-सफाई का जमकर अभियान चलाया | छात्रों ने केवल सड़कों पर ही साफ़-सफाई नहीं की, बल्कि आस-पास के कूड़े के ढेरों को भी सफाई अभियान के तहत हटाकर स्वच्छ स्थल में परिवर्तित कर दिया |

प्रत्येक वर्ष सिमेज कॉलेज की सभी शाखाओं के बीच सरस्वती पूजा के अवसर पर सोशल प्रोजेक्ट, स्वछता अभियान, थीम डेकोरेशन पूजा आयोजन तथा सांस्कृतिक कार्यक्रम के पैमाने पर प्रतियोगिता होती है | छात्रो को चंदे में जमा की गयी राशि का आधा भाग किसी ऐसे सामाजिक कार्य के लिए करना होता है जिसके फलस्वरूप आम जनता और बस्तियों में रहने वंचित वर्ग के छोटे बच्चो को लम्बे समय तक लाभ हो | सामाजिक कार्य हेतु छात्रो को बराबर की राशि कॉलेज से उपलब्ध कराइ जाती है ताकि उनके प्रोजेक्ट का आकार दुगना हो जाए |

सोशल प्रोजेक्ट के अतिरिक्त सभी ब्रांच के छात्रों द्वारा पुरे ब्रांच को एवं आस पास के इलाकों की सफाई की जाती है | इस स्वच्छता अभियान के तहत कॉलेज की कुल्हड़िया कॉम्प्लेक्स स्थित परिसर में छात्रों ने पुरे परिसर की सफाई की | सफाई के दौरान छात्रों ने पाया कि लोगों ने सीढियों और और दीवारों के कोने में पान-गुटखे की पीक फेंककर, दीवारों को बुरी तरह गन्दा कर दिया था | छात्रों ने ऐसी जगहों पर पुताई कर उस जगह का सौंदर्यीकरण कर दिया | छात्रों ने साफ़-सफाई के पश्चात, कूड़े के फैले हुए ढेर को हटा कर, उन जगहों पर ब्लीचिंग पाउडर का छिडकाव भी किया |

इसी प्रकार सिमेज कॉलेज के राजापुर स्थित ब्रांच में, छात्रों ने आस-पास के इलाके तथा पार्किंग प्लेस में फैले कचड़े के ढेर को हटाया एवं आस-पास की सड़कों की साफ़-सफाई की | राजापुर पुल इलाके में छात्रो द्वारा अनाधिकृत कूड़े के अम्बार को हटाया | जबकि कॉलेज के विवेकानंद पथ स्थित शाखा के छात्रों ने कालेज के सामने की पूरी सड़क, जिसे लोगों ने कूड़ेदान के रूप में बदल दिया था, और पुरे इत्मिनान के साथ कूड़े फेकने की जगह मानने लगे थे, उसे अपने अथक परिश्रम से वहां से हटा कर साफ-सुथरी सड़क बना दी | छात्रों ने आस-पड़ोस के लोगों को कूड़ा ना फ़ैलाने के लिए आग्रह किया |

वहीँ सिमेज कॉलेज की बोरिंग रोड शाखा के छात्रों ने जब साफ-सफाई अभियान का जिम्मा उठाया, तो उन्होंने आस-पास की सभी सड़कों की भी सफाई की | सभी जगहों से कूड़े के ढेर को हटा कर एक जगह इकठ्ठा किया गया | लेकिन सफाई अभियान में जुड़े सिमेज के छात्र इतने मात्र से ही संतुष्ट नहीं थे | उन्होंने फैसला किया कि इस पुरे ढेर को ही हटाया जाये | उन्होंने देखा की अगल-बगल में नगर निगम द्वारा किसी डस्टबीन की व्यवस्था भी नहीं थी | इसलिए छात्रों ने सभी कूड़े को एक जगह इकठ्ठा किया और फिर ठेले से ले चले, लगभग 500 मीटर दूर डस्टबीन में फेकने ले लिए | कूड़े के विशाल ढेर को देखते हुए छात्र वहां रखे एक डस्टबीन को खींचते हुए, कूड़े के इस ढेर के पास लाये और उसे कूड़े से भर कर, वापस डस्टबीन को वहीँ रख आये |

कॉलेज के इस अभियान का नेतृत्व करते हुए सिमेज के निदेशक नीरज अग्रवाल ने बताया कि ‘सरस्वती पूजा के अवसर पर सिमेज के छात्रों द्वारा समाज को एक सार्थक सन्देश दिया गया है | छात्रों ने सरस्वती देवी की वंदना, ‘स्वच्छता और सेवा’ के माध्यम से शुरू की है | स्वच्छता अभियान के माध्यम से हमने आस-पास के लोगों को भी जागरूक किया कि हम आगे से ऐसी जगहों पर कूड़ा न फैलाएं |’ कॉलेज के इस स्वच्छता अभियान में सिमेज की सेंटर हेड मेघा अग्रवाल, डीन नीरज पोद्दार तथा सभी शिक्षकों ने सक्रिय श्रमदान दिया | कॉलेज के इस  प्रयास की जनसामान्य ने भूरी-भूरी प्रशंसा की |