Blog
सिमेज के बी.एस.सी.(आई.टी.) छात्र को पे-पाल में मिला 37 लाख का पैकेज

सिमेज के बी.एस.सी.(आई.टी.) छात्र को पे-पाल में मिला 37 लाख का पैकेज

समान्य पृष्टभूमि से आने वाले सिमेज के छात्रों ने असाधारण सफलताएँ हासिल की है और वे लगातार अपनी सफलता की कहानी को जारी रखे हुये हैं | इसी क्रम में सहरसा के रहने वाले सिमेज समूह के छात्र स्वामी अनिल सरस्वती को एलोन मस्क के द्वारा स्थापित अंतर्राष्ट्रीय फिंटेक कंपनी  ‘पे-पाल’ से जॉब ऑफर प्राप्त हुआ है | स्वामी अनिल सरस्वती को ‘पे-पाल’ द्वारा 37 लाख 14 हजार 4 सौ के पैकेज पर जॉब ऑफर किया गया है | अनिल को बैंगलोर में नियुक्ति मिली है तथा उसका चयन ‘सोफ्टवेयर इंजीनीयर – 2’ के पद पर हुआ है | स्वामी अनिल सरस्वती सिमेज समूह के बी.एस.सी.(आई.टी.) के 2013-16 सत्र का छात्र है | पढ़ाई के पश्चात उसे कैंपस प्लेसमेंट ड्राइव के माध्यम से विप्रो टेक्नोलोजी’ से जॉब ऑफर प्राप्त हुआ था | तत्पश्चात उसने एमडॉक्स कंपनी में कार्य किया और वहाँ से उसका चयन पे-पाल में हुआ है | पढ़ाई के दौरान भी अनिल काफी ऐक्टिव था | कॉलेज की सभी शैक्षिक तथा शिक्षकेत्तर गतिविधियों में अनिल सक्रियता से भाग लेता था | कॉलेज में उसकी पहचान ‘सरोद वादक’ के रूप में बनी थी एवं कॉलेज के दौरान उसने विभिन्न कार्यक्रमों में अपनी सरोद वादन कला का प्रदर्शन किया था |

cimage student placement in paypal

cimage student placement in paypal

इस अवसर पर सिमेज समूह के निदेशक नीरज अग्रवाल ने छात्र स्वामी अनिल सरस्वती को कॉलेज की तरफ से प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित किया | उन्होने बताया कि ‘अनिल सरस्वती की सफलता इस बात का परिचायक है कि सामान्य पृष्टभूमि से आने वाले आई.टी. के छात्र भी असमान्य सफलता हासिल कर सकते हैं | कॉलेज में बी.एस.सी.(आई.टी.) की पढ़ाई के दौरान ही अनिल सरस्वती को एम.सी.एस.सी., सी.सी.एन.ए., रोबोटिक्स, एंड्रॉयड एप्प डेवलपमेंट,  बिग डेटा, इंफोर्मेटिका, साइबर सिक्यूरिटी (इथिकल हैकिंग)  तथा आर्टिफ़िशियल इंटेलिजेंस जैसे विषयों की भी पढ़ाई करवाई गई थी | इस सबने संयुक्त रूप से अनिल को सतत तौर पर आगे बढ़ने में मदद की |’  इस अवसर पर अनिल सरस्वती ने कहा कि ‘सिमेज में आने से पहले मैंने कभी कंप्यूटर की कोई पढ़ाई भी नहीं की थी | सिमेज कॉलेज के शुरुआती तीन महीनों में ही जिस प्रकार मेरे इंगलिश और मैथ की क्षमता का विस्तारण किया गया एवं प्रोग्रामिंग के सभी विषयों में प्रैक्टिकल प्रोजेक्ट के माध्यम से दक्षता प्रदान की गई, यही कारण है कि मुझे और मेरे साथियों को ऐसी सफलता मिलती है’| इसके पूर्व भी सिमेज के कई छात्रों को, जैसे कृष्ण कुणाल को इंटेल में 23 लाख तथा चन्द्र प्रकाश को 35 लाख का पैकेज मिल रहा है | जबकि इस अवसर पर डीन नीरज पोद्दार, सेंटर हेड मेघा अग्रवाल तथा सभी शिक्षकों ने छात्र स्वामी अनिल सरस्वती को उसकी सफलता पर बधाई दी तथा उनके उज्जवल भविष्य की कामना की | जबकि छात्र अनिल सरस्वती ने इस अवसर पर सभी के प्रति अपना उत्साह और कॉलेज तथा सभी  शिक्षकों के प्रति अपना आभार प्रदर्शित किया |